क्या आप प्रेग्नेंट नहीं हो पा रही हैं?

सावधानियां जो आपको बरतनी होंगी

आप मेंटली और फ़ाइनेंशियली तैयार होने के बाद मां बनने के बारे में गंभीरता से सोच रही हैं? जानी-मानी गायनाकोलॉजिस्ट और इन्फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट डॉ रेश्मा पै बता रही हैं उन सावधानियों के बारे में, जो प्रेग्नेंट होने की इच्छा रखनेवाली महिलाओं को बरतनी ज़रूरी है.

धूम्रपान से बचें

धूम्रपान यानी स्मोकिंग को शुक्राणु और अंडों का हत्यारा माना जाता है. जो महिलाएं नियमित रूप से धूम्रपान करती हैं, उनमें समय से पहले मेनोपॉज़ होने का ख़तरा होता है. आप ख़ुद तो धूम्रपान बंद करें, साथ ही अपने पति को भी स्मोकिंग बंद करने के लिए कहें.

प्रोसेस्ड फूड से बचे।

फ्रेंच फ्राई, तले हुए प्याज के छल्ले, चिकन नगेट्स जैसे प्रोसेस्ड फूड खाने में स्वादिष्ट भले लगें, पर इनका सेवन आपके शरीर में सूजन पैदा करता है, जिससे गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है. बेहतर होगा आप फल और सब्जियां, जैसे सेहतमंद आहार लें.

शराब पीने से बचे

अत्यधिक शराब शुक्राणु की गतिशीलता को कम कर सकती है, जिससे गर्भधारण की संभावना कम हो सकती है. तो अपने पति को शराब बंद करने या कम पीने कहें. वहीं यदि महिलाएं शराब पीने से परहेज़ नहीं करती हैं तो यह भ्रूण अल्कोहल सिंड्रोम का कारण भी बन सकता है.

संक्रमण से बचें

प्रेग्नेंट होने की कोशिश कर रही हों, तो ऐसे खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए, जो आपको सौगात में संक्रमण दे सकते हैं, उदाहरण के लिए बिना पकाए डेयरी प्रोडक्ट्स, कच्चा मांस, नरम पनीर, सुशी आदि. ये खाद्य पदार्थ भ्रूण के संक्रमण का भी कारण बन सकते हैं.

तनाव से बचें

तनाव बने बनाए काम को भी बिगाड़ सकता है. जब आप प्रेग्नेंट होने का तनाव लेने लगती हैं तो कई कोशिशों के बावजूद आप प्रेग्नेंट नहीं हो पातीं. आपको तुरंत तनाव से निपटने के तरीक़ों का अभ्यास करना शुरू कर देना चाहिए, जैसे- प्राणायाम और मेडिटेशन.

ख़ुद को दोष देने से बचे

हमारे समाज में आज भी बच्चा न होने का दोष महिलाओं पर मढ़ दिया जाता है. यदि कपल को बेबी नहीं हो रहा है तो पति से ज़्यादा चिंता पत्नी को होने लगती है. वह खुद को दोषी समझने लगती है. अगर आप प्रेग्नेंट होना चाहती हैं तो ख़ुद को दोष देना बंद कर दें.

फर्टिलिटी एक्सपर्ट से मिलें

अगर आपको प्रेग्नेंट होने में दिक्कत हो रही है तो किसी अच्छे फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट से सलाह लेने में संकोच न करें. आप अपने पति के साथ डॉक्टर द्वारा सुझाए गए सभी जांच करवाएं, जिसमें फैलोपियन ट्यूब, गर्भाशय, शुक्राणु स्वास्थ्य, आनुवंशिक प्रोफाइल आदि की जांच शामिल है. आईवीएफ़ जैसे सहायक प्रजनन उपचार आपको गर्भवती होने में मदद कर सकते हैं.

और फ़िटनेस डायट टिप्स के लिए यहां टैप करें

Click Here