मानसून में पैरों की देखभाल कैसे करें?

बारिश में पैर अक्सर गंदे पानी, कीचड़ आदि में भीगते रहते हैं, जिनके कारण इनमें इन्फेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए बारिश के मौसम में पैरों की विशेष देखभाल करनी पड़ती है।

पैरों को धोएं

बारिश के मौसम में पैरों में नमी आ जाती है, जो फंगल इन्फेक्शन का खतरा बढ़ा देती है। ऐसे में घर आते ही सबसे पहले पैरों को अच्छी तरह धोएं और तौलिये से पोछ लें।

स्क्रब करें

मानसून में पैरों को फंगल फ्री रखने के लिए अच्छी तरह स्क्रब करें। इससे पैरों की डेड स्किन सेल्स निकल जाएंगी और पैर नर्म व मुलायम रहेंगे।

गीले जूते या सैंडल न पहनें

बरसात में गीले जूते या सैंडल पहनने से बीमार होने का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि गीले जूतों में बैक्टीरिया पनपने की संभावना ज्यादा रहती है। जूतों को धूप में सुखाकर ही पहनें।

जुराब साफ रखें

जुराब स्वच्छ रखें और अवश्य पहनें। जुराब आपके पैरों की त्वचा को UV रेडिएशन और फंगल इन्फेक्शन से बचाने में मदद करते हैं साथ ही यह पैरों को गर्म भी रखते हैं।

मॉइस्चराइज करें

मॉइस्चराइजिंग रूटीन को चेहरे और हाथों तक सीमित न रखें। पैरों की त्वचा में भी नमी की कमी हो सकती है। मानसून में एड़ी की त्वचा ड्राई और सख्त हो सकती है, ऐसे में पैरों को मॉइस्चराइज करते रहें।

गर्म पानी

पैरों को महीने में दो बार 10 से 15 मिनट के लिए गर्म पानी में भिगोकर थोड़ी देर बैठे। यह त्वचा को मुलायम बनाने में मदद करता है। साथ ही पैरों को संक्रमण से भी बचाता है।

पैरों को स्वस्थ रखने के लिए आप ये सुझाव अपना सकते हैं। स्वास्थ्य से जुड़ी और जानकारियों के लिए पढ़ते रहे

Click Here